सेवा, संगठन व कार्यकर्ताओं को समर्पित थे प्रो.चतुर्वेदी.

सेवा, संगठन व कार्यकर्ताओं को समर्पित थे प्रो.चतुर्वेदी.......

भाजपा करौली 
   आज दिनांक 7 अगस्त 2021 प्रातः 11:00 स्थानीय करोली इन गार्डन में भारतीय जनता पार्टी शहर मंडल करौली द्वारा राजस्थान के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं राजस्थान सरकार में विभिन्न विभागों मैं मंत्री रहे सम्माननीय स्वर्गीय श्री ललित किशोर चतुर्वेदी जी का जयंती सप्ताह कार्यक्रम के तहत पौधारोपण एवं पुष्पांजलि कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
      कार्यक्रम में मुख्य अतिथि डॉ लोकेश चतुर्वेदी एवं विशिष्ट अतिथि प्रदेश कार्यसमिति सदस्य प्रहलाद सिंहल, पूर्व प्रदेश कार्यसमिति सदस्य डॉक्टर सी के शर्मा, पूर्व जिलाध्यक्ष रमेश राजोरिया, हिंडौन से पूर्व विधायक श्रीमती राजकुमारी जाटव, भाजपा जिला महामंत्री धीरेंद्र बैसला, एवं हिंदू सेना के प्रदेश अध्यक्ष साहब सिंह गुर्जर रहे।
      कार्यक्रम का संचालन भाजपा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष वीरेंद्र मित्तल ने किया।
    कार्यक्रम के दौरान मदन मोहन स्वामी ने अपने उद्बोधन के दौरान बताया की स्वर्गीय श्री ललित किशोर चतुर्वेदी जैसे लीडर विरले ही जन्म लेते हैं। चतुर्वेदी जी का जन्म 2 अगस्त 1931 को हुआ । अल्पायु में ही बे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ गए और 1948 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर बैन लगाया गया। तब उस दौरान उन्हें जेल भी जाना पड़ा। इसके बाद पेशे से भौतिक शास्त्र के प्रोफेसर श्री चतुर्वेदी राष्ट्रवाद की प्रेरणा से राजनीति में दाखिल हुए 1972 में पहला चुनाव हारने के बाद उन्होंने अपने संकल्प को और मजबूत किया। जिसका नतीजा 1977 से लेकर 1993 तक बे न केवल विधायक रहे बल्कि राजस्थान सरकार में विभिन्न मंत्री पदों पर भी रहे। इसी के साथ वह भारतीय जनता पार्टी के दो बार प्रदेश अध्यक्ष भी रहे। उनके कार्यकाल में भारतीय जनता पार्टी ने राजस्थान में पूर्ण बहुमत की सरकार भी बनाई। सभी कार्यकर्ताओं को साथ लेकर चलने की उनकी प्रवृत्ति ने राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी को पूर्ण मजबूती के साथ खड़ा करने में उनका विशेष योगदान रहा है। आज वह हम सभी कार्यकर्ताओं के प्रेरणा स्रोत के रूप में हमारे दिलों में निवास करते हैं।
    विधायक राजकुमारी जी, डॉक्टर सीके शर्मा, पूर्व जिला अध्यक्ष रमेश राजोरिया, एवं प्रदेश कार्यसमिति सदस्य प्रहलाद सिंघल ने भी उनके साथ बिताए हुए अपने अनुभवों को सभी कार्यकर्ताओं के साथ साझा करते हुए उनके जीवन चरित्र पर प्रकाश डाला। एवं सभी कार्यकर्ताओं को उनसे प्रेरणा लेकर संगठन को आगे बढ़ाने की अपील की।
   कार्यक्रम के आखिर में मुख्य अतिथि डॉ लोकेश चतुर्वेदी ने कहा के करौली मेरे पिताजी की कर्मभूमि रही है यहां कई वरिष्ठ कार्यकर्ता उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर संगठन का कार्य करते रहे हैं आज भी करौली में उनके लिए सम्मान की जो भावना है। इसके लिए मैं सदैव करौली वासियों का आभारी रहूंगा । एवं जब भी कभी करौली में मुझ से संबंधित कोई भी कोई भी कार्य होगा मैं उसमें अपनी पूर्ण सामर्थ्य के साथ उपस्थित रहूंगा । 
   इसके उपरांत मंडल अध्यक्ष अनूप शर्मा ने कार्यक्रम समाप्ति की घोषणा की