जब लोग घर से निकल नही रहे हैं उस वक्त नरोत्तम मीना व अन्य साथी लोगो की जान बचाने में लगे हुए हैं।


जब लोग घर से निकल नही रहे हैं उस वक्त नरोत्तम मीना व अन्य साथी लोगो की जान बचाने में लगे हुए हैं।

 रिपोर्ट सतीश नापित ।। करौली सामान्य चिकित्सालय में नरोत्तम मीना ने अपने जीवन काल में 7वीं बार ब्लड डोनेट किया। 18 महीने में 7 बार रक्तदान कर चुके है नरोत्तम मीना मरीज- गिर्राज, उम्र- 28,ब्लड ग्रुप- B+हीमोग्लोबिन, जिला कोटा निवासी
मरीज सामान्य चिकित्सालय करौली में एसडीपी के अभाव में जिंदगी और मौत से जूझ रहा था मरीज के परिवार में ब्लड देने वाला थे मगर मैच नही हो रहा था। जिसके कारण परिवार वाले सुबह से सामान्यचिकित्सालय में भटक रहे थे ऐसे में उन्होंने डी.डी.ओ.टीम के सदस्य निरोत्तम मीना से संपर्क किया तो निरोत्तम मीना ने बिना देरी किए हॉस्पिटल ब्लड बैंक पहुंच कर मरीज के लिए एसडीपी डोनेट किया।
मरीज के परिवार वालों ने डीडीओ टीम गुरदह टीम रक्तदान महाकल्याण समिति राजस्थान ,No more pain group और रक्तदाता नरोत्तम मीना गुरदह का आभार व्यक्त किया।
मौके पर डीडीओ  टीम गुरदह के सदस्य निरोत्तम मीना गुरदह व निर्मल मीना गुरदह मौजूद रहे।