संख्या बढ़ेगी, तो सरकार चाहते हुए भी कुछ नहीं कर पाएगी, संख्या रोकने का काम पब्लिक का है, बचने का इलाज भी आपके पास ही है: CM गहलोत

जयपुर। राजस्थान की सीएम अशोक गहलोत ने शनिवार को कोरोना महामारी के भयावह होते हालातों पर चिंता जताते हुए एक बड़ा बयान दिया और कहा कि कोरोना का इलाज जनता के पास ही है और किसी के पास नहीं। सरकार सिर्फ इलाज कर सकती है। इस संख्या को बढ़ने से रोकने का काम सिर्फ जनता कर सकती है।

CM ने चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के उद्घाटन अवसर पर कहा कि आप निश्चिंत रहें सरकार की तरफ से कोई कमी नहीं आएगी, पर संख्या बढ़ेगी, तो आप सोच सकते हो कि सरकार चाहते हुए भी कुछ नहीं कर पाएगी। इलाज तो हम करेंगे, संख्या रोकने का काम पब्लिक का है क्योंकि 7 करोड़ की जनता है, 7 करोड़ लोगों तक न कोई मंत्री पहुंच सकते हैं न हम पहुंच सकते हैं। वो खुद तय करेंगे कि हमें राजस्थान को बचाना है, खुद को बचाना है, परिवार को बचाना है, और लोगों को बचाना है प्रदेशवासियों को, तो मैं कहना चाहूंगा आपको दो टूक कि आपके पास ही इलाज है, किसी के पास इलाज नहीं है, वो इलाज आपके पास में है और सरकारी इलाज में कोई कमी नहीं आने देंगे चाहे पूरा बजट मैं झोंक दूं उसके अंदर, तो मुझे मंजूर होगा, परंतु सरकार के कामों से या व्यवस्था से कोई आदमी मरे, ये मुझे सहन नहीं होगा।’

CM गहलोत ने कहा कि कई लोग बेवकूफी कर जाते हैं, मस्क लगाते नहीं हैं, मास्क लटका देते हैं। मास्क का प्रॉपर तरीका होता है कि नाक तक मास्क लगा रहे, नाक तक, घर के अंदर बैठे हों तब भी मास्क लगाने की अभी एडवाइजरी जारी हुई है केंद्र से भी। एक्सपर्ट कहते हैं कि हवा में आ गया है ये कोरोना, घर के अंदर हो तब भी आपको ये मास्क लगाना है, डबल मास्क की बात होने लग गई है, अब आपके ऊपर है। मैं भी मीटिंग में बैठता हूं तो बिना मास्क के बैठता हूं, मुझे कई लोग कहते हैं कि आप मास्क क्यों नहीं लगाते ? मैं तो अभी मीटिंग में अकेला बैठा हुआ हूं, पर कहने का मतलब है कि घर में, हवा में मास्क लगाना जरूरी है और मैं भी झिल गया हूं, हो सकता है उसके कारण झिला हूं। तो कृपा करके ये मास्क लगाना बहुत जरूरी हो गया है, डबल मास्क लगाएं तो और भी अच्छा है, आप पूरी तरह सुरक्षित रहोगे।’

आगे CM ने कहा कि एक बार कोरोना होने के बाद में लंग्स में पहुंचता है जल्दी आज कल तीन-चार दिन में। आपके सिम्टम आते ही, सिम्टम नहीं आएं तो चिंता मत करो, सिम्टम आते ही आप डॉक्टर से बात करें, इलाज शुरू करवाएं, सीटी स्कैन करवाएं, सीटी स्कैन से पता चलता है कि वास्तव में आपको कोरोना हुआ है कि नहीं हुआ है। तो सब बातें जो हैं आपको ध्यान रखना है और मैं समझता हूं कि ये मास्क ही बचाव है हमारा, बहुत बड़ा बचाव है। मास्क के लिए प्रूफ है कि इससे पूरी तरह संक्रमित होने से बच सकता है आदमी।’