जगर बांध में पानी की मांग को लेकर किसानों ने किया प्रदर्शन

करौली जिले के डागुर वाटी एवं चौबीसा क्षेत्र में जल स्रोत के लिए एकलौता जगर बांध अपने भराव क्षमता हर साल खोते जा रहा हैभारतीय किसान यूनियन के मीडिया प्रभारी नाहर सिंह डागुर ने बताया कि जगर बांध का अस्तित्व खात्मे की ओर है क्षेत्रीय किसानों के द्वारा जगर बाद में चंबल का पानी की मांग पुरजोर तरीके से उठाई जा रही है अगर सरकार ने जल्द ही किसानों की मांग पूरी नहीं की तो पीने के पानी तक के लाले पड़ जाएंगे एवं वहीं दूसरी ओर जगर बांध पर बने निर्माणाधीन पुल एवं दीवारें ढह गई हैं पिछले 2 वर्ष से जगर बांध पर बना ओवर ब्रिज टूटा हुआ पड़ा है लेकिन जलदाय विभाग एवं सरकार का इस ओर कोई ध्यान नहीं है किसानों का सरकार से कहना है कि जल्द से जल्द केंद्र सरकार को पत्र लिखकर चंबल का पानी जगर बांध में लाया जाए जिससे तेजी से गिरते हुए जल स्तर को रोका जाए एवं किसानों की जिंदगी बचाई जाए क्षेत्रीय किसानों का कहना है कि जल्द से जल्द अगर सरकार ने कोई फैसला नहीं लिया तो सरकार को किसानों के आंदोलन का सामना करना होगा जिसकी जिम्मेदार खुद सरकार होगी मोहन गुमान कारवाडी जट्ट. हरज्ञान हवालदार. डागुर आदर्श विद्या मंदिर के संचालक भूरा सिंह डागुर. अरुण सिंह डागुर. बंटी राहुल डागुर खीप का पुरा  आदि मौजूद रहे